Chandrayaan : चंद्रयान 1 तथा 2 और 3 के बारे में देखिये सम्पूर्ण जानकारी

चन्द्रयान : Chandrayaan Mission

Chandrayaan, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का चन्द्र अन्वेषण कार्यक्रम है| इस कार्यक्रम के तहत भारत ने अपना पहला अंतरिक्ष यान 22 अक्टूबर 2008 को भेजा था जिसे चंद्रयान-1 नाम दिया गया|और यह यान 30 अगस्त 2009 तक सक्रीय रहा था| PSLV के एक संसोधित संस्करण वाले रोकेट की सहायता से सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किया गया था| इसे चन्द्रमा तक पहुँचने में 5 दिन का समय लगा| पर चन्द्रम की कक्षा में स्थापित करने में 15 दिनों का समय लगा| चंद्रयान ऑर्बिटर का मून इम्पैक्ट प्रोब (MIP) 14 नवम्बर 2008 को चन्द्र सतह पर उतरा और जिससे भारत चन्द्रमा पर अपना झंडा लगाने वाला चौथा देश बन गया| Chandrayaan का उद्देश्य चन्द्रमा की सतह के विस्तृत नक़्शे और पानी के अंश और कुछ धातु पदार्थ जैसे हीलियम की तलाश करना था|  आइये अब जानते है चन्द्रयान के मिशन के बारे में चंद्रयान 1,2 और 3 के बारे में….

चंद्रयान मिशन, Chandrayaan mission, चंद्रयान, Chandrayaan
चंद्रयान , Chandrayaan.

चंद्रयान-1 : Chandrayaan-1 

चंद्रयान-1 भारत का पहला चन्द्र मिशन था, यह मानवरहित याने उसमे मनुष्य नहीं थे यान था| जिसे 22 अक्टूबर 2008 को चन्द्रमा पर भेजा गया था| और ये 30 अगस्त 2009 तक सक्रीय रहा| चंद्रयान-1 चन्द्रमा की सतह से 100 किलोमीटर की ऊंचाई पर चन्द्रमा के चारो ओर चक्कर लगा रहा था| इसके तहत चन्द्रमा के रासायनिक,खनिज और फोटो-भूगर्भिक मानचित्रण का काम किया| Chandrayaan-1 ने चाँद पर पानी के अनुओ की खोज में अहम् भूमिका निभाई है| Chandrayaan-1 ने नासा के मून मेनेरोलोजी मैपर(M3) को भी अपने साथ ले जाया था| चंद्रयान-1 ने 3400 से ज्यादा चक्कर लगाये, 29 अगस्त 2009 को अंतरिक्ष यान से संपर्क टूट जाने की वजह से यह मिशन ख़त्म हो गया था| चंद्रयान-1 ने 14 नवम्बर 2008 को चाँद की सतह पर उतरने के लिए मून इम्पैक्ट प्रोब छोड़ा था| या प्रोब चाँद के दक्षिणी ध्रुव के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था| इस जगह को जवाहर पॉइंट कहा गया यह नाम भारत के पहले प्रधानमंत्री के सम्मान में दिया गया जिनका नाम जवाहर लाल नेहरु था|

चंद्रयान-1, Chandrayaan-1, चंद्रयान-1 मिशन , Chandrayaan-1 Mission
Chandrayaan-1 , चंद्रयान-1

चंद्रयान-2 : Chandrayaan-2 

चंद्रयान-2 भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संगठन (ISRO) द्वारा विकसित दूसरा चन्द्र अन्वेषण मिशन है| चंद्रयान-2 में एक परिक्रमा,विक्रम लैंडर और प्रज्ञान चन्द्र रोवर शामिल है| इस सभी को भारत में बनाया गया था|Chandrayaan-2 को 22 जुलाई 2019 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र श्रीहरिकोटा से लांच किया गया था| 2 सितम्बर 2019 में लैंडर विक्रम ने चन्द्रमा की सतह पर हार्ड लैंडिंग किया था| चंद्रयान-2 का प्रज्ञान नामक रोवर एक 6 पहिये वाला रोबोट था| प्रज्ञान एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ बुधिमत्ता होता है| रोवर का वजन 27 किलोग्राम था और यह सौर उर्जा के माध्यम से 50 वाट इलेक्ट्रिक पावर जनरेशन की क्षमता रखता है| यह चाँद की सतह पर 500 मीटर तक यात्रा करता था| Chandrayaan-2 को बाहुबली नाम के सबसे ताकत और विशाल रोकेट GSLV-Mark3 के जरिये प्रक्षेपित किया गया था|बाद में यह मिशन फ़ैल हो गया था क्योंकि लैंडर चाँद की सतह पर सही से लैंड नहीं हो सका था|  चंद्रयान-2 मिशन का उद्देश्य सतह पर नरम, लैंडिंग करना संचालन करना| और चाँद की बाह्य्मंडल खनिजो और पानी की बर्फ का अध्ययन करना था|

Chandrayaan-2, चंद्रयान-2, चंद्रयान-2 मिशन, Chandrayaan-2 Mission
Chandrayaan-2 , चंद्रयान-2
चंद्रयान-3 : Chandrayaan-3 

चंद्रयान-3 भारत का तीसरा चन्द्र मिशन है,यह चन्द्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने का भारत का दूसरा प्रयास था और यह प्रयास सफल भी हुआ| 14 जुलाई 2023  को Chandrayaan-3 ने आंध्र प्रदेश के श्री हरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से उड़ान भरी| 5 अगस्त 2023 को अंतरिक्ष यान चाँद की कक्षा में प्रवेश किया,23 अगस्त 2023 को भारतीय समयनुसार शाम 6.04 बजे के आसपास यह चन्द्रम के दक्षिणी ध्रुव के पास की सतह पर सफलतापूर्वक उतर गया था|  Chandrayaan-3 का उद्देश्य  चाँद की सतह पर  सुरक्षित और सॉफ्ट लैंडिंग का प्रदर्शन करना| रोवर को चाँद पर घूमते हुए दिखाना| चाँद की सतह पपर वैज्ञानिक प्रयोग करना| ISRO के अनुसार चंद्रयान-3 के लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान ने ठीक तरह से काम किया है| चंद्रयान-3 के रोवर प्रज्ञान के पेलोड ने एल्युमिनियम,सल्फर,आयरन,क्रोमियम,टैटेनियम,मैंगनीज,सिलिकोन और ओक्सिजन जैसे तत्वों की खोज की है| और चंद्रयान-3 हाड्रोजन की खोज कर रहा है| और चाँद पर आश्चर्यजनक तापमान का पता चला वैज्ञानिक अनुंन लगा रहे थे की यह 20से 30 के बिच होगा पर वहां का तापमान 70 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया|

Chandrayaan-3 , चंद्रयान-3, चंद्रयान-3 मिशन, Chandrayaan-3 Mission
Chandrayaan-3, चंद्रयान-3

 

 ये भी पढ़े :- 

1.Bharat Ratn in 2024 I भारत रत्न 2024 में किन्हें मिलेगा देखिये सम्पूर्ण जानकारी

2.What is shvet patra I श्वेत पत्र क्या है इसके बारे में यहां देख पूरी जानकारी

3.Lal Krishna Advani Bharat Ratn | लालकृष्ण आडवानी को 2024 में भारत रत्न

4.chhattisgarh budget news in hindi : पेश हुआ छत्तीसगढ़का बजट जाने क्या कुछ हुआ खास बाते

5.Chinese New Year 2024 : चन्द्र नव वर्ष जाने ड्रैगन नव वर्ष की परम्परा,महत्व,तारीख के बारे में

 

Leave a Comment