CGPSC Bharti Ghotala | सी.जी.पी.एस.सी. भर्ती घोटाला के विषय CM ने क्या कहा देखे

CGPSC Bharti Ghotala | सी.जी.पी.एस.सी. भर्ती घोटाला के विषय में बोले  CM

CGPSC Bharti Ghotala | सी.जी.पी.एस.सी. भर्ती घोटाला के विषय CM ने क्या कहा देखे
CGPSC Bharti Ghotala | सी.जी.पी.एस.सी. भर्ती घोटाला के विषय CM ने क्या कहा देखे

छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री माननीय विषाणु देव साय जी ने सी.जी.पी.एस.सी. भर्ती घोटाले के बारे बोले की  जो दोषी है, उन्हें छोड़ा नई जायेगा , तमन सहित अफसर – नेताओ पर FIR दर्ज हो कराया जा चूका है |और इसके लिए CBI  को जाँच के आदेश दिए जा चुके है |EOW ने एक दिन पहले ही CGPSC Bharti Ghotala  मामले में CGPSC के पूर्व चेयरमैन तमन सोनवानी , पूर्व सचिव जीवन किशोर ध्रुव , परीक्छ नियंत्रक सहित कई अन्यअधिकारियो के खिलाफ FIR  दर्गे करायी जा चुकी है | इन सभी अधिकारियो पर आरोप है की इन्होने अपने – अपने  भाई – भतीजो का बड़े – बड़े पदों पर चयन कराया है |

भारतीय जनता पार्टी(BJP)ने इस बार के विधान सभा चुनाव में बनाया था चुनावी मुद्दा 

भारतीय जनता पार्टी ने इस बार के विधान सभा चुनाव में 2023  में हुए  CGPSC Bharti Ghotala को बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया था | उन्होंने अपने घोषणा पत्र में भी इसके जाँच सम्बन्धी आदेश को जोड़ा था | इसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने इसे अपने आरोप पत्र में भी शामिल किया था | यह पहली बार हुआ की किसी राजनैतिक पार्टी ने PSC घोलते का मुद्दा चुनाव में उठाया था | चुनाव के दौरान भी देश के केन्द्रीय मंत्री माननीय अमित शाह जी ने भारतीय जनता पार्ट्री के द्वारा किये गये घोषणा पत्र में PSC घोटाले प्रमुखता से जोड़ा था |इससे पहले भी भाजयुमो के राष्ट्रियअध्याक्छ तेजश्वी श्रीय़६आ ने भी छत्तीसगढ़की राजधानी रायपुर  की रैली में CGPSC Bharti Ghotala का मुद्दा बड़े ही जोर शोर से उठाया था |

पूर्व गृहमंत्री ने हाइकोर्ट में दायर की है याचिका

छत्तीसगढ़ के पूर्व  गृहमंत्रीऔर रामपुर के विधायक रहे ननकीराम कंवर ने हाइकोर्ट में याचिका दर्ज कराया और PSC में सलेक्ट हुए अफसरों के रिश्तेदारों की लिस्ट दी| इसके बाद कांग्रेश ने भी वो लिस्ट सामने जिसमे पुराने अफसरों और नेताओ के रिश्तेदार  का चयन PSC हुआ था | इसके बाद यह पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुँच गया |

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग की 2021-22 में किया गया  चयन विवादों में 

CGPSC की 2021-22 की परीक्षा के बाद हुआ चयन  सूची  विवादों से घिरी हुयी है  भारतीय जनता पार्टी के द्वारा आरोप लगाया गया की CGPSC भरी में भाई- भतीजा वाद किया गया है | इसके बाद हाइकोर्ट में याचिका दायर करायी गयी जिसके बाद 13 नियुक्तियों पर रोक लगाई थी |हलाकि कुछ तथ्यों को लेकर चीफ जस्टिस रमेश  सिन्हा ने राज्य सरकार और PSC को निर्देश दिया की जो सूची याचिका करता ने पेश की उसकी सत्यता की जाँच कर ले |

ये भी पढ़े :-

1.What is shvet patra I श्वेत पत्र क्या है इसके बारे में यहां देख पूरी जानकारी

2.Artificial Intelligence | AI की दुनिया देखे क्या होगा आने वाले समय में

3.Lal Krishna Advani Bharat Ratn | लालकृष्ण आडवानी को 2024 में भारत रत्न

4.Mahatari vandan yojna : महतारी वंदन योजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

भारतीय जनता पार्टी(BJP)ने इस बार के विधान सभा चुनाव
भारतीय जनता पार्टी(BJP)ने इस बार के विधान सभा चुनाव

171 पदों पर हुयी थी भर्ती परीक्छा का आयोजन

CGPSC  परीक्षा  2021 में कुल 171 पदों भर्ती की गयी थी |  प्री – एग्जाम 13 फ़रवरी 2022 को आयोजित की गयी थी जिसमे कुल 2 हजार 565 परिक्छार्थी पास हुए थे |इक्के कुछ महीनो बाद 26,27,28,29  मई 2022 को आयोजित हुए  मैन्स परीक्छा में कुल  509अभ्यर्थी पास हुए |इंटरव्यूके बाद कुल जरी किये गये लिस्ट में कुल 170 अभ्यर्थियों का चयन हुआ |

cgpsc  ने BJP  के आरोपो को ख़ारिज किया

छत्तीसगढ़ हाइकोर्ट में CGPSC ने जो जवाब पेश किया उसमे अपने ऊपर लगाये गये आरोपों को कोपूरी तरह से नकार दिया है | और उन सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है |और उन्होंने आरोपों ख़ारिज करते हुए परीक्षा के दिनों का उल्लेख किया है |

Leave a Comment