rashtriy panchayati raj diwas 2024 : राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस 2024 जाने कब हुयी इसकी शुरुआत इसका पूरा इतिहास

 

 rashtriy panchayati raj diwas 2024 | राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस 2024

rashtriy panchayati raj diwas 2024 : आज अर्थात 24 अप्रैल 2024 में भूरे भारत देश में पंचायती राज दिवस मनाया जा रहा है | यह भारत देश का एक महत्वपूर्ण दिवस है |  आज भारत सरकार का पंचायती राज मंत्रालय , मध्यप्रदेश सरकार के सहयोग से मध्यप्रदेश के रीवा शहर में राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस मनाया जाएगा | जिसे भारत सरकार मध्यप्रदेश में आजादी के अमृत महोत्सव के एक अंग के रूप में सरकार के समग्र दृष्टि कोण के साथ मनाया जाएगा |

इस कार्यक्रम में भारत के प्रधान मंत्री माननीय नरेन्द्र दामोदर दास मोदी जी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे | इस महत्वपूर्ण अवसर पर प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी भारत के पंचायती राज संस्थाओ के निर्वाचित प्रतिनिधियों और पदाधिकारियों के साथ – साथ विशेष ग्राम सभाओ को भी संबोधित करेंगे | प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के महत्वपूर्ण अवसर पर चुनिन्दा लाभार्थियों को स्वामित्व संपत्ति कार्ड सौपेंगे | प्रधान मंत्री पंचायत स्तर पर सार्वजनिक खरीद के लिए एकीकृत ई – ग्राम स्वराज और जी. ई. एम्. पोर्टल का भी उद्धघाटन करेंगे |

इस अवसर पर प्रधान मंत्री जी आजादी का अमृत महोत्सव अभियान के लिए नए थीम का भी उद्धघाटन करेंगे | प्रधान मंत्री द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव समावेशी विकास पर एक समर्पित वेबसाइट और मोबाईल एप का भी शुभारम्भ करेंगे |

राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस 2024
राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस 2024

राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस का इतिहास

भारत में पंचायती राज दिवस हर साल 24 अप्रैल को मनाया जाता है | यह दिवस उस एतिहासिक लम्हे की याद में मानाया जाता है , जब संविधान (73 वा संसोधन ) अधिनियम 1992 लागू हुआ था | यह अधिनियम अप्रैल 1992 में भारतीय संसद द्वारा पारित किया गया था | औरे 24 अप्रैल सन 1993 को इसे राष्ट्रपति की सहमती प्राप्त हुयी , इस प्रकार पंचायती राज प्रणाली को संवैधानिक इकाई के रूप में स्थापित किया |

भारत देश में पंचायती राज का एक बहुत ही लंबा इतिहास रहा है | जो प्रचीन काल से चला आ रहा है | जहा ग्राम सभाओ के माध्यम से ग्राम स्तर पर स्वशासन किया जाता था | हलाकि आधुनिक पंचायती राज प्रणाली की शुरुआत बलवंत राय मेहता समिति की सिफारिस से गयी , जिसे 1957 में भारत में पंचायती राज संस्थानों को शुरू करने की व्यवहार्यता का अध्ययन करने के लिए स्थापित किया गया था |

पंचायती राज दिवस पर दिए जाने वाले पुरस्कार व सम्मान

भारत के पंचायती राज मंत्रालय हर साल 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस के अवसर पर पुरे देश भर में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाली पंचायतो , राज्यों , केन्द्रशासित प्रदेशो को सम्मानित कराती है | यह पुरस्कार कई श्रेणियों के अंतर्गत  दिए जाते है |

  1. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत शक्तिकरण पुरस्कार
  2. नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार
  3. बाल सुलभ ग्राम पंचायत पुरस्कार
  4. ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार
  5. ई – पंचायत पुरस्कार ( केवल राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रो को दिया जाता है )
पंचायती राज दिवस
पंचायती राज दिवस

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस का महत्व

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस भारत देश में महत्वपूर्ण स्थान रखता है क्युकी यह एक संवैधानिक इकाई के रूप में पंचायती राज प्रणाली की स्थापना का प्रतीक है | पंचायती राज प्रणाली भारत की लोकतांत्रिक प्रणाली का एक अभिन्न अंग है | पंचायती राज प्रणाली का उद्देश्य स्थानीय स्तर पर सत्ता संसाधनों का विकेंद्रीकरण करना और सहभागी लोकतंत्र , सामाजिक न्याय और समावेशी विकास को बढ़ावा देना है |

 पंचायती राज प्रणाली आम लोगो को भी सभी प्रकार के निर्णयों में भाग लेने और उसके विकास का स्वामित्व लेने में सक्षम बनाती है | जो स्वशासन और जवाबदेही को बढावा देती है | राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस हर साल पंचायती राज प्रणाली के महत्व और लोकतंत्र को मजबूत करने , समावेशी विकास को सुनिश्चित करने में इसकी भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ने के लिए मनाया जाता है

पंचायतीराज दिवस 2024 का थीम

किसी भी दिवस को मानाने के लिए एक थीम का निर्धारण किया जाता है ऐसे ही राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस 2024 की थीम अभी तक निर्धारत नही की गयी है | इससे पहले साल 2023 में राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस की थीम सस्टेनेबल पंचायत : बिल्डिंग हेल्थी , वाटर सफिसीएंट , क्लीन एंड ग्रीन विलेज राखी गयी थी |

इसी तरह की मत्वपूर्ण जानकारियों के लिए हमारे इस पेज को अवश्य फोलो करे – sujhaw24.com

Join Whatsapp Channel Join Whatsapp Channel
Join Telegram Channel download 1 2

 

ये भी पढ़े –  

1.hanuman chalisa : देखिये हनुमान चालीसा और उनके लाभ तथा मंत्रो के बारे में

2. vishv pusatak diwas 2024 : विश्व पुस्तक दिवस 2024 की महत्वपूर्ण बाते

3.world book day 2024 : विश्व पुस्तक दिवस 2024 जाने इसका महत्व , इतिहास क्यों मनाया जाता है

4.World Book Day and World Copyright Day 2024 : विश्व पुस्तक दिवस तथा विश्व कॉपीराइट दिवस कब और क्यों इसी दिन मनाया जाता है एक क्लिक पर दिखेंगी 5 लाख किताबें, वाराणसी में 24 हजार पुस्तकें हुईं ऑनलाइन

5.bajrangbali janmostsav 2024 : हनुमान जन्मोस्तव 2024 जाने उनके जन्म की विशेष बाते

Leave a Comment