national panchayati raaj day 2024 : राष्ट्रिय पंचायती दिवस 24 अप्रैल 2024

national panchayati raaj day 2024 | राष्ट्रिय पंचायती  राज दिवस 24 अप्रैल 2024 

national panchayati raaj day 2024 :बलवंत राय मेहता को पचायती राज का जनक माना जाता है बलवंत राय मेहता ने समिति की शुरुआक्त 1950 के दशक में आधुनिक भारत में सबसे पहले पंचायती राज व्यवस्था की वापसी के रुपरेखा बनाया के उद्देश्य से किया था |

भारत में पंचयती राज का शुरुआत कब हुआ

panchjayati raj  एक त्रिस्तरीय योजना है 2 अक्टूबर 1959 को जिसका शुरुआत किया गया | सन 1992 में 73 वे संवैधानिक संशोदन के माध्यम से भारत में पंचायती  राज  प्रणाली  लाया गया था | भारत में पहली बार 2 अक्टूबर को राजस्थान के नागौर जिले में पंचायती राज की शुरुआत हुआ | जिसके बाद आध्र प्रदेश में  पंचायती  राज  प्रणाली को अपनाया गया | भारत में हमारे त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था है

  1. ग्राम पंचायती
  2. पंचायत समिति
  3. जिला परिषद
national panchayati raaj day 2024
national panchayati raaj day 2024

पंचायती राज के मुख्य उद्देश्य क्या है ?

पंचायती राज का मुख्या उद्देश्य गाव के क्षेत्र में खुद विकास की योजनाओ को और सामाजिक नीतियों को लागु करना तथा उनका न्यायपूर्ण पालन करना है इसी लिए संतुलन बनाये रखने के लिए महिलाओ और पुरषों में सिटो को आरक्षित किया गया है |

73 वे सविधानिक संसोधन क्या है

इस संशोधन के जरिये पंचायती  राज  को जोड़ा गया जिसमे भारत के संविधान पंचायती राज के  29

विषय को जोड़ा गया जिसकी वजह से राज्य सरकारों को पंचायती राज के नये व्यवस्था को अपनाना बाध्य हो गया |

panchayti raj rastriy panchayti divas 2024
panchayti raj
rastriy panchayti divas 2024

पंचायत का पूरा नाम क्या है ?

पंचायत का मतलब है पाच ( पंच ) की सभा और जिसमे राज्य का अर्थ शासन है | पुराने समय के अनुसार जिस तरह गाव के बुजुर्ग लोग समूह बनाकर कुछ लोगो को उस समूह का मुख्या व सदस्य चुन कर गाव की किसी भी समस्या का निपटारा करते थे उसी के मुताबिक अभी के पंचायती राज का कार्य है | भारत में आधुनिक पंचायती राज प्रणाली की उत्त्पत्ति बलवंत राय मेहता जी ने की थी |

ग्राम पंचायत के 10 कार्य क्या है ?

ग्राम पंचायत के मुख्या कार्य निम्नलिखित है –

  1. गाव की शिक्षा
  2. गाव में परिवहन की संसाधन
  3. स्वास्थ के साधनों की व्यवस्था
  4. जल की आपूर्ति
  5. स्वच्छता कार्य
  6. सरकारी योजनाओ के लाभ
  7. गाव के संस्कृति को बनाये रखना
  8. आर्थिक विकास
  9. सार्वजनिक भूमि का संरक्षण
  10. गाव में आवश्यक भवनों का निर्माण

भारतीय संविधान का अनुच्छेद 243 क्या है ?

rashtriy panchayati divas  के अनुसार प्रत्येक राज्य में गाव के स्तर में मध्यवर्ती उच्च स्तर पर पंचायतो का गठन किया जाएगा और जिस राज्य में जनसख्या 20 लाख से कम है वहा पर मध्यवर्ती राष्ट्रिय पंचायती  राज दिवस 24 अप्रैल 2024 करना उचित नही होगा |

भारत में पंचायती राज का क्या महत्व है ?

भारत में पंचायती राज भारत के ग्रामीण लोकतंत्र आधार है जो लोकतंत्र में लोगो की भागीदारी को बढाकर नागरिको में विश्वास और लोगो में साहस उत्पन्न करता है जिसमे गाव के विकास के लिए योजना बनाने तथा निम्न वर्ग के लोगो में सामान रूप से अवसर प्रदान लोक तंत्र में  किया जाता है |

पंचायती राज के क्या फायदे होते है ?

पंचायती राज भारत के लोकतंत्र को मजबूत करता है यह समाज के कमजोर वर्ग के लोगो को जिसमे अनुसूचित जनजातियो, अनुसूचित जातियों ,अन्य पिछड़े वर्गों और महिलाओ को बढावा दिया जाता है | ग्राम पंचायत में जल के जो प्रमुख स्रोतों जैसे कुओ, तिको और पंपों ,स्ट्रीट लाइटिग और जल को सही तरीके से रखने की व्यवस्था होती है | पंचायती राज के संस्थापक बलवंत राय मेहता है |

पंचायती राज में कमिय क्या होती है ?

  1. गाव में संसाधनों की कमी होती है |
  2. गाव के युवोवो के भागीदारी में कमी होती है |
  3. गाव में राजनितिक वर्ग के लोगो का हस्तक्षेप होता है |

ग्राम पंचायत में कुल कितने सदस्य होते है ?

पंचायती राज शासन की एक प्रमुख प्रणाली है जिसमे ग्राम पंचायत के प्रशासन की बुनियादी कड़ी वोती है | जिसमे सदस्यों की संख्या 7 से 31 तक होता है लेकिन उसमे कभी भी 7 से काम सदस्य नही पाया जाता है |

देश को यह बेहतरीन योजना देने के लिए आज हम बलवंत राय मेहता जी को शत – शत नमन करते है | इस अमूल्य सोच के लिए बलवंत राय मेहता जी को sujhaw24.com की ओर से सादर धन्यवाद

Join Whatsapp Channel Join Whatsapp Channel
Join Telegram Channel download 1 2

 

यह भी आगे पढ़े – 

1. rashtriy panchayati raj diwas 2024 : राष्ट्रिय पंचायती राज दिवस 2024 जाने कब हुयी इसकी शुरुआत इसका पूरा इतिहास

2.hanuman chalisa : देखिये हनुमान चालीसा और उनके लाभ तथा मंत्रो के बारे में

3. vishv pusatak diwas 2024 : विश्व पुस्तक दिवस 2024 की महत्वपूर्ण बाते

4.world book day 2024 : विश्व पुस्तक दिवस 2024 जाने इसका महत्व , इतिहास क्यों मनाया जाता है

5.World Book Day and World Copyright Day 2024 : विश्व पुस्तक दिवस तथा विश्व कॉपीराइट दिवस कब और क्यों इसी दिन मनाया जाता है एक क्लिक पर दिखेंगी 5 लाख किताबें, वाराणसी में 24 हजार पुस्तकें हुईं ऑनलाइन

 

Leave a Comment