2024 SABSE GARAM VARSH HONE KI AASANKA : साल 2024 सबसे गर्म वर्ष होने की आशंका जाने इसका प्रमुख कारण

 

 SABSE GARAM VARSH 2024 | जलवायु रिकॉर्ड का सबसे गर्म साल 2024

SABSE GARAM VARSH 2024 : वर्तमान समय में दुनिया भर की सबसे बड़ी समस्याओ में एक जलवायु परिवर्तन है | आज हर जगह पर पेड़ पौधों को कटा जा रहा है जिसके चलते दुनिया के तापमान में वृद्धि हो रही है | इंसान अपने निज स्वार्थ की पूर्ति के लिए प्रकृति का अंधा – धुध दोहन कर रही है | जिससे आज सम्पूर्ण मानव जाति का अस्तित्व खतरे में आ गया है | आजन जलवायु परिवर्तन के कारण ही बेमौसम बरसात और बारिश दिन में सुखा पद रहा है | कही पर ओले तो कही पर सुखा पड रहा है |

मौसम वैज्ञानिको ने इस बात की आशंका जताई है की वर्ष 2024 अब तक का सबसे गर्म वर्ष हो सकता है | साल 2024 जलवायु रिकॉर्ड का सबसे गर्म वर्ष होने वाला है | केवल इतना ही नही वैज्ञानिको ने साल 2024 को पांच सबसे गर्म वर्षो में शामिल होने की 99 प्रतिशत संभावना जताई है | मौसम वैज्ञानिको ने वर्ष 2024 को 55 प्रतिशत तक गर्म होने की संभावना जताई है |यह दावा नेशनल ओसनिक एंड एटमोसफेरिक एडामिनिस्ट्रेशन के नेसनल सेंटर फॉर एन्वायरमेंट इनफार्मेशन की ताजा रिपोर्ट मे किया गया है |

 SABSE GARAM VARSH 2024
SABSE GARAM VARSH 2024

नेसनल सेंटर फॉर एन्वायरमेंट इनफार्मेशन की रिपोर्ट

दावा नेशनल ओसनिक एंड एटमोसफेरिक एडामिनिस्ट्रेशन के नेसनल सेंटर फॉर एन्वायरमेंट इनफार्मेशन की ताजा रिपोर्ट के अनुसार साल 2024 के मार्च महीने में औसतन तापमान 20 वी सदी में मार्च के औसतन तापमान से 1.35 डिग्री सेल्सिअस अधिक दर्ज किया गया गया है | यह लगातार 48 मार्च का महीना है जब तापमान 20 वी सदी के तापमान से जादा हुआ है | ऐसा नही अहि की बढ़ते तापमान का असर केवल धरती तक ही सिमित है इसका बुरा प्रभाव समुद्रो पर भी पडा है |

मार्च 2024 के दैरान अधिकांश क्षेत्रो में सनुद्र की साथ का तापमान औसत के ऊपर था | समुद्र का औसत तापमान सामान्य से 1.01 डिग्री अधिक नापा गया है | इससे पहले साल 2016 में धरती के समुद्र की सतह का तापमान सबसे जादा 0.83 डिग्री नापा गया था |

बढ़ते पृथ्वी के तापमान का नया रिकॉर्ड

धरती की सतह के तापमान के अनुसार 2024 का मार्च का महीना चौथा सबसे गर्म मार्च का महीना है | जब तापमान सामान्य से 2.09 डिग्री सेल्सिअस ज्यादा दर्ज किया गया है | इतना ही नही जून 2023 में से यह लगातार 10 वा महीना है जब वैश्विक स्तर पर बढ़ते तापमान ने नया रिकॉर्ड बनाया है | यानी जून 2023 कोई भी महीना ऐसा नही रहा , जब किसी महीने बढ़ते तापमान ने नया रिकॉर्ड न कायम किया हो |

जलवायु क्या होता है ?

जलवायु किसी विशेष स्थान पर लम्बे समय तक वातावरण यह वायुमंडलीय तत्व का दीर्घकालिक योग है जो काम समय अवधि में बनता है मौसम | ये तत्व है सौर विकिरण , तापमान , आद्रता , वर्षा , वायुमंडलीय दबाव और हवा |

जलवायु परिवर्तन
जलवायु परिवर्तन

पृथ्वी के तापमान बढ़ने का कारण

पृथ्वी के तापमान बदने का एक प्रमुख कारण कार्बन डाई ऑक्साइड है | NOAA के अनुसार कार्बन डाई ऑक्साइडअन्य गग्रीन हाउस गैसों की तरह साथ से परिवर्तित होने वाली उष्मा को ट्रैप कर लेती है और उसे बाहर अन्तरिक्ष में जाने से रोक देती है | इसके फलस्वरूप धरती का तापमान बढ़ रहा है | और इसकी वजह से चरम मौसमी घटनाये कही जादा कही कम कही पर जादा दिखाई देता है | इस बारे में NOAA से प्राप्त आकड़ो के अनुसार पता चलता है कि वातावरण में मौजूद कार्बन डाई ऑक्साइड का स्तर 424 भाग प्रति मिलियन (PPM) पर पहुँच गया है | ऐसा पिछले लाखो सालो में नही देखा गया है |

इसी तरह की महत्वपूर्ण जानकारियों के हमारे इस पेज को जरुर फोलो करे – SUJHAW24.COM

 

ये भी पढ़े –

1.loksabha chunaw 2024 chhattisgarh : सूअर बेच कर अपनी बहु को लडवा रहा है लोकसभा चुनाव 2024 जाने उनकी कहानी

2.loksbha chunaw cg 2024 prtham charn : लोकसभा चुनाव छत्तीसगढ़ 2024 प्रथम चरण जाने कौन की पर भरी

3.Loksabha chunaw ubgl blast : लोकसभा चुनाव के दौरान UBGL फटने से CRPF जवान घायल जाने इसके बारे में

4.Loksabha chunav chhattisgarh 2024 : लोकसभा चुनाव छत्तीसगढ़ जाने कहा से किसे मिला है सिट

5.gram lamkeni abhanpur : ग्राम लमकेनी अभनपुर छत्तीसगढ़ की प्रमुख बाते

 

Leave a Comment