Kushabhau Thackeray University : कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय एकमात्र पत्रकारिता विश्वविद्यालय

Kushabhau Thackeray University || कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय छात्रो की गतिविधि के नाम पर 3 साल में वसूले 9.75 लाख , आयोजन एक भी नही कराया 

Kushabhau Thackeray University :- छत्तीसगढ़ में कुशाभाऊ ठाकरे एकमात्र पत्रकारिता विश्वविद्यालय है जहा  पर देश भर से सैकड़ो छात्र , छात्राए पत्रकारिता के लिए पढने आते है | छत्तीसगढ़ के कुशाभाऊ ठाकरे विवि में हर साल गतिविधि , विद्यार्थी कल्याण शुल्क के नाम पर 3.25 लाख की वसूली की जाति है | लेकिन इस लिए गये शुल्क के मुताबिक़ किसी भी गतिविधि से जुदा कोई भी आयोजन नही कराया जाता है |

सीधे कहे तो गतिविधि के नाम पर छात्रो से तीन साल में करीब 9.75 लाख रूपये वसूले जा रहे है | लेकिन आयोजन एक भी नही किया गया है | इस मामले की पड़ताल करने से पता चला की विवि प्रबंधन द्वारा प्रत्येक छात्र से गतिविधि के लिए 100 रुपये , विद्यार्थी कल्याण के लिए भी 250 रुपये और प्रायोगशाळा के नाम पर 300 रुपये लिए जा रहे है |

कॉलेज की संख्या समझे तो करीब 500 है , जिनसे शुल्क लेने के बाद रसीद भी दी जाति है | बीते तीन बर्षो में संचार फेस्ट ही नही हुआ है | इसके लिए चार बार आवेदन भी दिए गये है | लेकिन कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय प्रबंधन आश्वासन देते रहा है|यहाँ कैंटीन भी 1.5 साल से बंद पड़ा है | लोकपाल नियुकी नही करने के करण से यू.जी.सी. ने कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय को डिफाल्टर घोषित कर दिया | इसके बावजूद जिम्मेदार लापरवाही करते रहे |

Kushabhau Thackeray University
Kushabhau Thackeray University

कुशाभाऊ ठाकरे विवि के खेल मैदानों पर उग रही घास

विवि में खेल मैदान तो है लेकिन रख – रखाव के अभाव में मैदान में घंस उगने लगी है | ऐसे हालात कोविद के समय से देखे जा रहे है |  मैदान की मरम्मत कराने छात्रो ने कुलपति को ख़त भी लिखे | इसके बाद कर्मचारियों को सफाई का जिम्मा सौपा | इसके बाद भी मैदान की सफाई नही की गई |

टेंडर के बाद 1 महीने ही चल पाई कैंटीन

एक साल पहले ही छात्रो के मांग पर कैंटीन के लिए टेंडर किया गया था | इसे एक निजी कंपनी को दिया गया था लेकिन महज एक माह के बाद ही यह कैंटीन बंद हो गया | क्युकी कैंटीन में खाने की गुणवत्ता सही नही थी | इस करन  छात्रो ने इसका विरोध किया था | इसके बाद से अब तक कैंटीन शुरू ही नही किया जा सका है |

कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय
कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय

विधार्थी की समस्या

 

  1. 3 सालो से गतिविधि के नाम पर शुल्क ले रहे है | लेकिन अब तक आयोजन नही किया गया है | इसके लिए हम लोगो ने आवेदन भी जमा कराया है लेकिन कुलपति द्वारा आश्वासन देकर भुला दिया गया |
  2. प्रयोग शाळा के लिए शुल्क ले रहे है लेकिन अब तक हमने एक बार भी इसका लाभ नही लिया है | क्युकी वाह पर हमेशा ताला लगा रहता है | जाने पर अनुमति पत्र लाने को कहा जाता है |
  3. कई बार प्रयास के बाद जैसे तैसे कैंटीन शुरू किया गया था लेकिन वह खाने की गुणवत्ता सही नही होने पर छात्रो ने विरोश किया तो समस्या को हल करने बजाये कैंटीन को ही बंद कर दिया गया | और इसे अभी तक शुरू नही किया गया |
  4. पिछले एक साल से पानी की किल्लते हो रही है | क्युकी जरुर के अनुसार tubwell नही है | पिछले दिनों इसका विरोध भी किया गया था उसके बाद भी सिर्फ आश्वासन मिल रहा है |

अभी सेमेस्टर की परीक्षा शुरू हुयी है | परिणाम की तैयारी चल रही है | विवि में स्टाफ की भी कमी है जिसकी वजह से छात्रो की पढाई में समस्याए आ रही है | संचार फेस्ट के लिए पास विद्यर्थी के आवेदन आये है | प्रबंधन इन सब अशुविधा को दूर करने के लिए प्यास किये जा रहे है | जल्द ही आयोजन भी कार्य जायेंगे |

ये भी पढ़े –

1.chitrakut jalprapat chhattisgarh : छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध जगह चित्रकूट जलप्रपात

2.Chhattisgarh Lok Kla Sanskriti : छत्तीसगढ़ की लोककला एवं संस्कृति

3.chhattisgarh nakshlwad shurwat : छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद के बारे में जाने सम्पूर्ण जानकारी

4.Chhattisgarh Lok Natak : छतीसगढ़ी लोक नाटय के बारे में पूरी और अच्छी जानकरी देखे

Leave a Comment