Election In India : भारत में चुनाव देखिये विधानसभा और लोकसभा चुनावों के बारे में

भारत में चुनाव : election in india

election in india की शुरुआत 1952 में हुआ था| 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ था उसके बाद 1951 में चुनाव हुआ| 1950 में अन्विधन लागु होने के पश्चात 1952 में भारत में पहली बार लोकसभा का गठन किया गया था| इस चुनाव में भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस 364 सीटे जीतकर सरकार में आ गयी|  भारतीय चुनाव की स्थापना 25 जनवरी 1950 को हुआ था |

भारतीय निर्वाचन आयोग : election commission of india :- 

संविधान के अनुच्छेद 324 में निर्वाचन आयोग को election कराने की जिम्मेदारी सौपी गयी| 1989 तक निर्वाचन आयोग में केवल एक सदस्य होता था| 16 अक्टूबर 1989 को राष्ट्रपति ने दो और निर्वाचन आयोग का गठन किया| भारत निर्वाचन आयोग एक स्वायत्त संवैधानिक प्राधिकरण है, यह लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभाओ और देश के राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति के पदों के लिए चुनाव कराता है|

election, election commission, election in india, election logo, election images, चुनाव , भारतीय चुनाव
election commission of India

 

भारत में आम चुनाव : general election in india

भारत में आजादी के बाद से पहला general election 25 अक्टूबर 1951 और 21 फरवरी 1952 के बिच हुआ था| इस चुनाव में भारत की संसद के निचले सदन, पहली लोकसभा के 489 सदस्यों को चुना गया|  पहले चुनाव में कांग्रेस की सत्ता सरकार में आई|

  • पहला आम चुनाव 25 अक्टूबर 1951 से 21 फरवरी 1952 तक हुआ था|
  • दूसरा आम चुनाव 24 फरवरी से 14 मार्च 1957 तक
  • तीसरा आम चुनाव 19 से 25 फरवरी 1962 तक हुआ था|
  • चौथा आम चुनाव 17 से 21 फरवरी 1967 तक
  • पांचवा आम चुनाव 1 से 10 मार्च 1971 तक|
  • छटवां आम चुनाव 16 से 20 मार्च 1977 तक
  • सातवा आम चुनाव 3 से 6 जनवरी 1980 तक हुआ था|
  • आठवां आम चचुनाव 24 से 28 दिसंबर 1984 तक|
  • नौवा चुनाव 22 से 26 नवम्बर 1989 तक |
  • दसवा चुनाव 20 मई से 15 जून 1991 तक हुआ था|

भारत में चुनाव कराने की जिम्मेदारी : responsibility of conducting elections in india

election in india कराने की जिम्मेदारी निर्वाचन आयोग का होता है, भारतीय संविधान के अनुछेद 324 में निर्वाचनो का अधीक्षण, निदेशन, और नियंत्रण निर्वाचन आयोग के पास होता है| भारतीय संविधान के अनुसार निर्वाचन पक्रिया को निर्धारित करने का अधिकार संसद को होता है| इसके द्वारा भारत में लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा, और राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति आदि के पदों के लिए चुनाव कराता है|  भारतीय चुनाव प्रणाली की कुछ विशेष बातें :-

  • मुक्त और निष्पक्ष चुनाव कराना |
  • मुक्त और निष्पक्ष चुनाव आयोग|
  • जन-भागीदारी
  • एक व्यापक चुनाव प्रक्रिया
vote, voters, voter in india, election, मताधिकार, मतदाता
Voter

चुनाव के प्रकार : types of election 

  • पहला है लोकसभा और विधानसभा चुनाव : इस चुनावो में वयस्क मताधिकार प्राप्त मतदाता प्रत्यक्ष मतदान के जरिये संसद और विद्यायक चुनते है|
  • नगरीय निकाय चुनाव: इसका प्रबंधन राज्य निर्वाचन आयोग करता है|
  • राष्ट्रपति ,उप-राष्ट्रपति, राज्यसभा और विधान परिषदों के चुनाव : इसमें संविधान ने समानुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली का एक तीसरा और जटिल स्वरूप प्रस्तावित किया है|
  • राज्य विधानसभा चुनाव: राज्य विधानसभा के सदस्य अपने क्षेत्र में खड़े उम्मीदवारों के एक समूह से चुने जाते है|

चुनाव और मतदाता : election and voters 

चुनाव का उद्देश्य जनता अपने प्रतिनिधियों को चुनना है| चुनाव के जरिये ही लोग विधायिका और कभी कभी न्यापालिका और कार्यपालिका के लिए लोगो को चुनते है| चुनाव के जरिये लोग अपनी मर्जी के तथा अपने पसंद के अनुसार किसी व्यक्ति को चुनकर अपना प्रतिनिधि चुनना है|  लोकतंत्र की नीव मताधिकार पर राखी जाती है, मताधिकार पर आधारित समाज और शासन की स्थापना के लिए जरुरी है की वह हर वयस्क नागरिक को बिना किसी भेदभाव के वोट का अधिकार मिले, जिस देश में जितने अधिक नागरिक मताधिकार होने वह देश उतना बड़ा लोकतान्त्रिक देश कहलायेगा| भारत सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है| भारत में 2019 में जब चुनाव हुए थे तो कुल मतदाताओ की संख्या 897811627 थी|

यह भी पढ़े :-

1.maa banleshwari devi shaktipith dongargarh : माँ बमलेश्वरी देवी शक्तिपीठ डोंगरगढ़ 

2.shri guru singh sabha gurudwara : श्री गुरु सिंघ सभा गुरुद्वारा

3.PM Kisan Samman Nidhi Yojana 16th Installment Check 2024 : पीएम किसान सम्माननिधि का 16 वी क़िस्त नहीं आया तो ये करे

4.Japan Moon Mission : अब जापान ने भी चन्द्रमा पर कदम रख दिया है सूरज की रोशनी पड़ते ही जगा मून लैंडर

5National Science Day : राष्ट्रिय विज्ञान दिवस देखिये कब और क्यों मनाया जाता है

 

Leave a Comment